बस्‍तर प्रहरी में आपका स्‍वागत है.

रविवार, 2 अक्तूबर 2016

कांकेर में एकलौती गैस एजेंसी, सैकड़ो उपभोक्ता गैस से वंचित,खामियाजा भुगत रहे है आम नागरिक.

"प्रधानमंत्री उज्जवला योजना"जिसमे बीपीएलधारियों को नया गैस कनेक्शन उपलब्द कराया जा रहा है प्रधानमंत्री का सपना  है कि महिलाओं को धुआं से छुटकारा मिल जाएगा, लेकिन उत्तर  बस्तर में नए गैस कनेक्शन तो बाँट दिए गये लेकिन पुराने  कनेक्शन धारियों को लगभग 15 दिन से भी ज्यादा हो गया गैस सिलेंडर जाम कर के दिया जा रहा हा . 
गैस सिलेंडर के लिए हर दिन कांकेर में कोलाहल मचा हुआ है. जानकारी के अनुसार आज एजेंसी खुली ही नहीं क्योंकि एजेंसी के पास सिलेंडर ही नहींसैकड़ो उपभोक्ता दुकान के सामने भीड़ लगा के खड़ेज्ञात हो कि जिले में स्थित गैस एजेंसी की मोनोपॉली, गलत मैनेजमेंट का खामियाजा भुगत रहे है आम नागरिक. जिले में मात्र  इकलौती गैस एजेन्सी होने से  परेशानी  उठानी पड़ रही है.
स्थानीय एकमात्र इण्डेन गैस एजेन्सी वर्षों से कांकेर में अपनी मोनोपोली चला रही है जिसमें एकाधिकार वाद के समस्त दुर्गुण चुके हैं, जैसे, उपभोक्ताओं के साथ दुव्र्यवहार, सेवाओं में कमी, कर्मचारियों की बेरूखी के अलावा सिलेण्डरों की कालाबाज़ारी की शिकायतें  मिलना. ताजा मामला जिले में 15 दिन से सिलेंडर का आकाल पड़ा हुआ है.
छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के प्रदेश सचिव प्रवीण नायक ने कहा कि एजेंसी में सिलेंडर  उन्ही को मिल रहा है जो 12 15 दिन पहले बुकिंग कराये थे। लगभग 10 15 दिन से ये नाटक चल रहा है कि सिलेंडर नही आने का बहाना बता कर संचालकगैस उपभोक्ताओ को सिलेंडर उपलब्द नही करा पा रहा है.  आज स्थति यह है कि सिलेंडर नही होना बता कर संचालक ने एजेंसी की दूकान ही बंद कर दी है
यह सब जिले में एक मात्र गैस एजेंसी होने का कारण है, दूसरी गैस एजेंसी शहर में नही है, और है भी तो वाह दुसरे कपनी  की है जिससे गैस उपभोक्ताओ का भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, शहर में एकलौती गैस एजेंसी होने के चलते पूर्ण मोनोपॉली,  चल रही है