बस्‍तर प्रहरी में आपका स्‍वागत है.

रविवार, 4 सितंबर 2016

लकड़ी और बांस का चन्दा एकत्र कर बनाये पुल, जान जोखिम में डालकर लकड़ी के पुल को पार करते हैं स्कूली बच्चे।

तस्वीर साभार Bhumkaal Sanghatan
कांकेर : हमारा देश 3 जी 4 जी के मामले में तो तेजी पाँव पसार रहा है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेक इन इण्डिया का नारा दे रहे है तो दूसरी और छत्तीसगढ़ प्रदेश के बस्तर संभाग में आज भी लोग लकड़ी के पुल के साहरे अपना जिन्दगी काट रहे है, सडक का नामोनिशान नही है नक्सल उन्मूलन में मशगुल भाजपा की रमन सरकार विकास में फिसड्डी साबित ही रही है

तस्वीर साभार Bhumkaal Sanghatan
कांकेर जिले में भानुप्रतापपुर ब्लाक के दफाईपारा से कच्चे गॉंव को जोड़ने वाले नाले में नही बना है पुल। चंदा एकत्र कर 10 हजार रुपये में लकड़ी और बाँस के अस्थाई पुल का ग्रामीणों ने किया निर्माण। रावघाट रेलवे परियोजना के ठेकेदार ने बना दिया है नाला। जान जोखिम में डालकर लकड़ी के पुल को पार करते हैं स्कूली बच्चे। कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा। प्रशासन की लापरवाही उजागर।