बस्‍तर प्रहरी में आपका स्‍वागत है.

रविवार, 10 अगस्त 2014

मनरेगा के तहत किये गये कार्यों का डेढ़ वर्ष बाद भी भुगतान नही

कलेक्टर के पास भी इसकी जानकारी पर भुगतान नदारद
कांकेर /कोयलीबेड़ा - ग्राम पंचायत कौड़ोसालेभाट में मनरेगा के तहत किये गये कार्यों का डेढ़ वर्ष बाद भी भुगतान नही हो पाया है जिससे मजदुर आक्रोशित हैं। यह पुरा मामला कौड़ोसालेभाट पंचायत के आश्रित ग्राम जिरामतरई में हुए मनरेगा के तहत गली निर्माण आवासपारा से तालाबपारा और सलिहापारा में कार्य 04/02/2013 को प्रारंभ हुआ और कार्य पूर्ण 01/03/2013 को हुआ जिसमें कार्य लागत किसी पता को नही परंतु कुल गोदी 6572 जिसका की 132 रूपये के दर से 867504 (आठ लाख सड़सट हजार पांच सौ चार) रूपये मजदुरों को भुगतान किया जाना था परंतु 602896 (छः लाख उट्ठाईस हजार छियानबे) रूपये का ही भुगतान मजदुरों को किया गया है और बाकी भुगतान नही किया जा रहा है सभी मजदुरों कहना है कि वो बार-बार सचिव के पास चक्कर लगा रहें है पर कोई सही जानकारी नही दी जा रही है। मजदुरों का  सचिव,रोजगार सहायक, जनपद सदस्य के साथ कई बार बैठक कर इसकी जानकारी चाही गई की क्यों भुगतान नही हो रहा पर सचिव का कहना था कि आजतक कार्य का चेक नही कटा है जिस कारण भुगतान नही हो पाया है और पिछले बैठक जो 06/07/2014 को आयोजित था जिसमें सचिव श्यामसिंह कोरेटी के द्वारा लिखित रूप से दिया गया था की भुगतान 26/07/2014 तक अनिवार्य रूप से भुगतान कर दिया जायेगा पर आज पर्यन्त भुगतान नही हुआ है। जिसकी शिकायत ग्राम पंचायत,जनपद मुख्यकार्यपालन अधिकारी, यहां तक की कलेक्टर के पास भी इसकी जानकारी दी गई है पर भुगतान नदारद है। मजदुरों का यह भी कहना है कि पिछले बार भी भुगतान (13/07/2013 को) चार माह बाद शिकायतों और पेपर मे आने के बाद ही हुआ था।

ग्रामिणों की अन्य शिकायते निम्न हैं: - 

1. पांच वर्षों में आज तक एक बार भी ग्राम सभा का आयोजन नही किया गया है।
2. पांच वर्षों से मूलभुत के राशि का कोई जानकारी और कार्य नही काराया गया है।
3 वार्ड पंचो को किसी प्रकार की जानकारी नही दी जाती है।
4. ग्राम मनेगांव में प्राथमिक शाला हेतु अतिरिक्त कक्ष की स्वीकृति 2012-13 में 
  हुआ है जिसमें भवन निर्माण में अनियमितता बरती गई।
5. रोड निर्माण मु मुरूमीकरण आवासपारा से तालाब पारा तक अपूर्ण है।

कोयलीबेडा से नियत श्रीवास की भेजी रिपोर्ट