बस्‍तर प्रहरी में आपका स्‍वागत है.

सोमवार, 24 फ़रवरी 2014

5 कम्प्यूटर 52 छात्र-छात्रा,हाल बेहाल,बालक औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था माकड़ीखूना का...

जिले के बालक औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था ग्राम माकड़ी खूना में संचालित हो रहा है। सरकार आदिवासी क्षेत्रों में आदिवासी बच्चों के लिए ढेर सारी योजना चला रही है लेकिन बहुत सी योजनाओं का दम टुटता नजर आता है। यही हाल कांकेर जिले में संचालित बालक औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था है। जो जिले के सबसे बड़े आईटीआई के रूप में संचालित हो रही है। जिसमें आदिवासी बच्चों को अनेक प्रकार के प्रशिक्षण दिये जाते है लेकिन कम्प्यूटर प्रशिक्षण के मामले में यहां बहुत ही ज्यादा लचर व्यवस्था है। कम्प्यूटर प्रशिक्षण छात्राओं की संख्या 52 है और आईटीआई में 8 कम्प्यूटर लगे हुए है। जिसमें तीन कम्प्यूटर खराब पड़े हुए है कुल मिलाकर 5 कम्प्यूटर में 52 बच्चों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है नवप्रदेश संवाददाता ने जब इसकी जानकारी लेनी चाही तो आईटीआई कम्प्यूटर प्रशिक्षण विद्यार्थी प्रकाश चन्द्र कश्यप, भोजराज साहू, सोमन साहू, योगेन्द्र कुमार जैन, प्रिंस कुमार, कुबेर सिंह उइके इन छात्राओं ने बताया कि एक महीने से ज्यादा समय हो गया है अभी तक हमने कम्प्यूटर को छुआ तक नहीं है। ऐसे में हमारी पढ़ाई भी पूरी नहीं हो पाती और प्रशिक्षण अधिकारी से शिकायत करने पर उनका कहना है कि हर साल सिर्फ 5000 हजार ही बजट आता है तो इसमें कम्प्यूटर कैसे खरीद सकते है बजट में आवेदन किया गया है इस वर्ष कम्प्यूटर की संख्या बढ़ायी जायेगी। जबकि शासन आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों में शिक्षा के लिए ज्यादा से ज्यादा बजट भेजती है लेकिन इस आईटीआई में कोई भी बजट नहीं आता ऐसा अधिकारियों का कहना है। जब जिले के आईटीआई का यह हाल है तो अदंरूनी ग्रामीण क्षेत्रों में जो आईटीआई संचालित हो रही है वो तो भगवान भरोसे ही होंगे।
इस संबंध में छात्र-छात्राओं ने कड़ा विरोध करते हुए कहा कि कम्प्यूटर की व्यवस्था जल्द नहीं होने पर कलेक्टर एवं शिक्षा मंत्री से शिकायत की जायेगी । 

इस संबंध में आईटीआई उपसंचालक के.एल. बघेल (बस्तर जगदलपुर) ने बताया कि यह बहुत बड़ी लापरवाही है इस संबंध में जांच करवाता हूं। 

मोहन यादव अधीक्षक आईटीआई कांकेर का कहना है कि दो सिफ्ट में बच्चों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है और जो कम्प्यूटर खराब है उसे जल्द बनवाया जायेगा और सारी कमीया दुर की जायेगी और छात्राओं ने जो बताया है उसमें मैं क्या कर सकता हूं । 

प्रशिक्षण अधिकारी रोशन धु्रव ने बताया कि इस साल कम्प्यूटर हेतु आवेदन शासन को भेज दिया गया है हमारे पास नौ कम्प्यूटर है तीन खराब है एक अधीक्षक महोदय के रूम में लगा हुआ है और पांच कम्प्यूटर में 52 छात्र-छात्राओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।